राजस्थान में पर्यटन विकास

Spread the love
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1
    Share

राजस्थान में पर्यटन विकास

राजस्थान पर्यटन विभाग का पंचवाक्य – “जाने क्या दिख जाये”।

राजस्थान में सर्वाधिक पर्यटक(देशी व विदेशी दोनों) – 1. पुष्कर – अजमेर 2. माउण्ट आबू – सिरोही।

राजस्थान में सर्वाधिक विदेशी पर्यटक – जयपुर शहर में आते हैं।

राजस्थान में सर्वाधिक विदेशी पर्यटक – 1. फ्रांस 2. ब्रिटेन से आते हैं।

पर्यटन की दृष्टि से राजस्थान को 9 सर्किट 1 परिपथ में बांटा है।

मोहम्मद यूनूस समिति की सिफारिश पर 4 मार्च 1989 को पर्यटन को उद्योग का दर्जा प्राप्त करने वाला राजस्थान भारत का प्रथम राज्य था।

राजस्थान पर्यटन विकास निगम (RTDC)

स्थापना – 1978 में

मुख्यालय – जयपुर

कार्य

  1. राजस्थान में पर्यटन विकास हेतु कार्यक्रम, नीतियां और योजनाएं तैयार करना।
  2. पर्यटन स्थल का रखरखााव करना।
  3. पर्यटकों को आकर्षित करने हेतु मेले व महोत्सव को आयोजित करना।
  4. पर्यटकों की सुविधा हेतु होटल, पर्यटन पुलिस एवम् गाईडों की व्यवस्था करना।

पर्यटन त्रिकोण

स्वर्णिम त्रिकोण – दिल्ली – आगरा – जयपुर

मरू त्रिकोण – जैसलमेर – बीकानेर – जोधपुर

पर्यटन सर्किट/परिपथ

  1. मरू सर्किट – जैसलमेर – बीकानेर – जोधपुर – बाड़मेर
  2. शेखावाटी सर्किट – सीकर – झुंझुनू
  3. ढुढाॅड सर्किट – जयपुर – दौसा – आमेर
  4. ब्रज मेवात सर्किट – अलवर – भरतपुर – सवाईमाधोपुर – टोंक
  5. हाड़ौती सर्किट – कोटा – बुंदी – बारा – झालावाड़
  6. मेरवाड़ा सर्किट – अजमेर – पुष्कर – मेड़ता – नागौर
  7. मेवाड़ सर्किट – राजसमंद, चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा
  8. वागड़ सर्किट – बांसवाड़ा – डुंगरपुर
  9. गौड़वाड़ सर्किट – पाली – सिरोही – जालौर

प्रमुख महोत्सव

क्र. स.महोत्सवस्थानतिथि
1.अन्तराष्ट्रीय मरू महोत्सवजैसलमेरजनवरी – फरवरी
2.अन्तर्राष्ट्रीय थार महोत्सवबाड़मेरफरवरी – मार्च
3.तीज महोत्सव(छोटी तीज)जयपुरश्रावण शुक्ल तृतीया
4.कजली/बड़ी/सातूडी तीजबूंदीभाद्र कृष्ण तृतीया
5.गणगौर महोत्सवजयपुरचैत्र शुक्ल तृतीया
6.कार्तिक महोत्सवपुष्कर, अजमेरकार्तिक पूर्णिमा
7.वेणेश्वर महोत्सवडुंगरपुरमाघ पूर्णिमा
8.ऊंट महोत्सवबीकानेरजनवरी
9.हाथि महोत्सवजयपुरमार्च
10.पतंग महोत्सवजयपुर, जोधपुर, जैसलमेरजनवरी
11.बैलून महोत्सवबाड़मेरवर्ष में चार बार
12.मेवाड़ महोत्सवउदयपुरअप्रैल
13.मारवाड़जोधपुरअक्टुबर
14.शरद कालीन महोत्सवमाउण्ट आबूनवम्बर
15.ग्रीष्म कालीन महोत्सवमाउण्ट आबूमई
16.शेखावटी महोत्सवचुरू – सीकर – झुंझुनूफरवरी
17.ब्रज महोत्सवभरतपुरफरवरी

Leave a Reply